HomeBaby

Delivery के बाद तनाव कैसे कम करे – Reduce Stress After Delivery In Hindi

Hello friends, आप सभी का स्वागत है हमारे blog पर और आज का article है कि, “delivery के बाद तनाव कैसे कम करे”. अगर आप पहली बात माँ बनी है तो ये आपको ही पता होगा कि, आपके लिये ये पल कितना stressful वाला है. खुद को एक parenting में बदलना सभी new mother के लिये बहुत मुस्किल होता है. पहले आप अपना और परिवार का ख्याल रखती थी but अब आपको अपने साथ साथ अपने बच्चे का भी ध्यान रखना होता है. ऐसे में तनाव stress का होना आम बात है, आप इससे बच नहीं सकती but हा आप अपने तनाव को कम जरुर कर सकती है.

तनाव को कम करने के लिये आपको supporting networking की जरूरत है, तभी आप अपने new experience को handle कर सकती हो. इसके अलावा अगर आप और तरीके जानना चाहते हो तो आपको ये article ऊपर से लेकर नीचे तक पूरा पढना होगा. तभी आप जान सकोगे की, एक new mother को क्या क्या problem आती है? और बच्चे को कैसे handle किया जाता है? So, please check out below for more information…………………………………………………..

Delivery के बाद तनाव कैसे कम करे – Reduce Stress After Delivery In Hindi

तनाव दूर करने के लिये अपना ख्याल रखे

Simple सी बात है कि, अगर आपको कुछ problem है तो उसे solve करके ही आप telex हो सकते हो. उसी तरह अगर आपको तनाव stress है तो आपको अपना ख्याल रखना होगा, तभी आप इससे छुटकारा पा सकते हो.

1. पहले जाने कि, आपको कहा कहा Problem आरही है

एक problem को तो आप solve कर सकते हो but जब problems बहुत ज्यादा हो तो उसे handle करना भी बहुत मुस्किल होता है. कभी कबार तो हम ज्यादा problem के चक्कर में कुछ problems को भूल ही जाते है. तो ऐसे में आपको दिमाग से काम लेना चाहिये. आपको सबसे पहले ये search करना चाहिये की आपको कहा कहा problem आरही है. For example :- बच्चे को पालने में, खुद को time ना देने की वजह से, body में दर्द की वजह से, बच्चे की बीमारी की वजह से etc etc. उसे एक notepad में लिखे, आपकी जितनी लम्बी problem की list होगी उतना ही आपको problem से राहत मिलेगी. अगर आपको अपनी problem को ढूँढने में काफी time लग रहा है तो time लगाये.

2. उन Problems को Solve करे

जब आपके पास एक लम्बी problem की list है तो अब आपका काम उन problems को solve करने का है. अपनी list को पढ़े और छोटे छोटे problems को बाद के लिए छोड़ दे और बड़ी बड़ी problem को solve करने की कोशिश करे. अगर आपको अपने family members, partner या doctors की help चाहिये तो help ले. Problems solve होने के बाद list में tick लगाये और इसी तरह सभी problems को solve करे. हमे उम्मीद है की इस तरह से आप अपने तनाव stress tension को दूर कर पाओगे.

3. खुद को अकेले में Time दे

Delivery के बाद सभी महिलाओ के लिये खुद को time दे पाना बहुत मुस्किल हो जाता है, तभी शायद सभी महिलाये stress tension तनाव का शिकार रहती है इसलिये अपने आपको अकेले में time दे. अपने खाने पिने का ध्यान रखे, अपनी सेहत का ध्यान रखे, अगर आप active feel नहीं कर रही है तो अपने आपको fit रहने की कोशिश करे like exercise, aerobics के through. अपनी खूबसूरती का ध्यान रखे, अपने वजह का ध्यान रखे etc etc.

4. खुद को जितना हो सके उतना Rest दे

जब body को proper rest नहीं मिलेगा तो body में कमजोरी आयेगी और ऐसे में आपको stress tension तनाव ज्यादा feel होगा जो किसी के लिये सही नहीं है. Parenting में देखा गया है कि, माँ के लिये proper सोना बहुत मुस्किल हो जाता है खास कर रात के time. तो ऐसे में आपको अपना और अपने baby का bedtime set करना चाहिये, तभी आप proper rest ले सकती है.

5. किसी से बात करे

कुछ problems एसी होती है जिसे अपने तक रखा जाये तो ये problem बाद में किसी बड़े बीमारी का रूप ले लेती है तो एसी problem को आपको किसी से share करनी चाहिये या किसी से सलाह लेनी चाहिये. अपनी problems को उन लोगो से share करे जो खुद पहले इन problem को face कर चुके है, ऐसे लोग आपको सही सलाह देंगे.

तनाव दूर करने के लिये बच्चे का ख्याल रखे

Parenting में सबसे ज्यादा दिक्कत बच्चे को संभालने में आती है इसलिए हम इस section में आपको बच्चो की carrying के बारे में बतायेंगे.

1. बच्चे की Carrying के लिये किसी से Help ले

अगर आपको parenting की knowledge नहीं है तो आप अपने friends या family member से help ले सकते है. नहीं तो आप बड़ो की सलाह को follow कर सकती है. अगर आपको लगे की फिर भी baby को संभालना मुस्किल है तो ऐसे में आप babysitter hire कर सकती है कुछ दिनों के लिये. इससे आपको अंदाजा भी हो जायेगा कि, बच्चे को कैसे handle किया जाता है और आप अपने आपको time भी दे पाओगे.

2. Carrying Center Join करे

Parenting को अच्छे से सिखने के लिये हर city में carrying center होता है. वह join करके आप अपने बच्चे की carrying के बारे में अच्छे से सीख सकते हो. अगर आपका husband भी carrying सीखना चाहते है तो सीख सकते है.

तो दोस्तों आपको ये article केसा लगा, आपको इस article से फायदा हुआ की नहीं इसके बारे में बताने के लिये हमने comment करे. दोस्तों इस article को share करना ना भुले social media sites में. हमारे साथ बने रहे next article के लिये. Thanks and have a nice day all of you.

Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *