आत्मविश्वास : बच्चो का Confidence कैसे बढ़ाये (2 तरीके)

by:

ChildrenParenting

दोस्तों आज हम बच्चो के आत्मविश्वास पर बात करने वाले है आज का आर्टिकल है कि, “बच्चो का confidence कैसे बढ़ाये”. तो आपके बच्चो में confidence की कमी है या आपको लगता है कि, आपके बच्चे औरो के बच्चो से कम तेज है या कम active है. देखिये बच्चे आप लोगो की देख रेख में रहते है बच्चे बहुत नाजुक होते है आप उन्हें जैसा ढालोगे वैसे ही वो ढालेंगे. तो इसका मतलब है कि, कही ना कही आपकी वजह से ही आपके बच्चे औरो से कमजोर है या औरो से confidence में कम है.

तो अगर आप जानना चाहते है कि, आपके बच्चो में आत्मविश्वास कम क्यों है? आपमें क्या कमी है? बच्चो को confident कैसे बनाये? तो ये आर्टिकल आप लोगो के लिये किसी वरदान से कम नहीं है. build-confidence-in-children-in-Hindi.

आत्मविश्वास बच्चो का Confidence कैसे बढ़ाये (2 तरीके)

बच्चो में Confident ना होने के कारण

सबसे पहले जान लेते है कि, आपके बच्चो में confidence ना होने के क्या क्या कारण है? देखिये निचे हमने कुछ common कारण बता रखे है ये कारण आपको हर घरो में पाये जायेंगे. तो इन कारणों को पढ़े और जो कारण आपको लगे कि, हा ये कारण है अपने गलती को माने और अगली बार इस गलती को ना दोहराये.

1. बच्चो पर रोप झाड़ना

हर parents चाहते है कि, उनके बच्चे उनके control में रहे, उनकी बातो को माने, उनके बताये हुये रास्तो पर चले. ऐसे में कई माँ बाप बच्चो की अच्छी परवरिश के चक्कर में रोप झाड़ने लग जाते है जैसे कि :- यहाँ नहीं जाना, ये नहीं करना, उससे बात नहीं करनी, अपनी मर्जी से कुछ नहीं करना etc etc. जब ये आदते रोज हो जाये तो इसे रोप झाड़ना कहते है ऐसे में बच्चे खुद की ना सुन कर हमेशा के लिये आपपर depend हो जाते है तो ऐसे में हमे एक बात बताये कि, बच्चो में self confidence कहा से आएगा.

2. बच्चो को आजादी ना देना

किसी पर इतना हावी हो जाना की वो अपनी मर्जी से कुछ ना कर सके तो ऐसे में बच्चा confident कहा से होगा. हम भारत में रहते है और भारत में सबको freedom है तो फिर बच्चो को क्यों नहीं? कही आप डर तो नहीं रही है कि, अगर बच्चो को शुरू से ही आजादी दे दी तो कही आपका बच्चा बिगड़ ना जाये या पढाई में ध्यान ना लगा पाये. देखिये हम आपको ये नहीं कह रहे है कि, आप अपने बच्चो को full आजादी दे बल्कि कुछ आजादी तो दे ताकि वो भी अपने अनुसार दुनिया को परख सके, जान सके कि, होता क्या है.

3. बोलने ना देना

हम दावे के साथ कह सकते है कि, बहुत सारे parents जो ये आर्टिकल पढ़ रहे है सभी अपने बच्चो को ज्यादा बोलने नहीं देते. अगर बच्चे बोलते भी है तो माता पिता को लगता है कि, बच्चे उनसे जुबान लड़ा रहे है. देखिये बच्चे बहुत जिज्ञासा वाले होते है उनके दिमाग में लाखो सवाल चल रहे होते है, ऐसे में वो हर वक्त अपने बड़ो से कुछ ना कुछ पूछते रहते है. ऐसे में बच्चो को बोलने ना दिया गया तो बच्चे अपने आपको बहुत कमजोर महसूस करते है……………….और यही एक कारण है कि, बच्चो में confidence की कमी रहती है.

बच्चो का आत्मविश्वास बढ़ाये

हमे पता है कि, आप अब अपनी गलतियों पर पछता रहे है और आपको पछताना भी चाहिये. देखिये जो हो चुका उसे पीछे छोड़े और नये सीरे से काम start करे. निचे हमने कुछ तरीके बता रखे है, जिसे अपनाने के बाद आप अपने बच्चो में confidence देख सकोगे.

1. बच्चो की तारीफ करे

हर कोई तारीफ का भूका होता है और अगर बच्चो की बात किया जाये तो बच्चे बहुत ज्यादा तारीफ के भूके होते है. अगर बच्चो की तारीफ उनके सामने की जाये तो बहुत ज्यादा खुश हो जाते है और झुमने लग जाते है. आप बच्चो में अलग सा confidence देख सकते हो जो आगे जा कर उनके बहुत काम आती है.

तो आपको करना कुछ नहीं है बल्कि जब आपके बच्चे कुछ अच्छा काम करे या exam में अच्छे marks लाये तो अपने बच्चो की जम कर तारीफ करे. इससे होगा क्या कि, आपके बच्चे अच्छा महसूस करेंगे और अगली बार ओर अच्छा करेंगे.

2. बच्चो को निर्णय लेने दें

ये कहना सही नहीं होगा कि, बच्चो को निर्णय लेने दे क्योंकि बच्चो में सही गलत की समझ नहीं होती है. बच्चे उम्र के साथ साथ बातो को समझते है निर्णय लेना सीखते है. पर हा आप बच्चो को थोड़ी बहुत चीजों के लिये निर्णय लेने की आजादी दे सकते है जैसे कि :- बात करने का निर्णय, खेलने का निर्णय, पढने का निर्णय, सोने या उठने का निर्णय, TV देखने का निर्णय etc etc. अगर आपको लगे कि, आपके बच्चे अपने निर्णय का ज्यादा फायदा उठा रहे है या आपको लगे कि, ये चीज़ आपके बच्चे के लिये सही नहीं है तो फिर आप अपने बच्चो पर रोक लगा सकते है. दोस्तों इस तरह की छोटी छोटी आजादी आपके बच्चो में आत्मविश्वास बढ़ा सकती है.

3. बच्चो की Problem को Solve करे

बड़ो के मुकाबले बच्चो में समझ बहुत कम होती है जिस वजह से वो अपनी problems में फसे रहते है. ऐसे में अगर बच्चो की problems को solve ना किया जाये तो बच्चे अपने आपको कमजोर महसूस करते है जो हमारे हिसाब से सही नहीं है. अगर आप अपने बच्चो का self confidence improve करना चाहते है तो आपको अपने बच्चो की हर दिक्कतों को solve करना होगा. ऐसे में आपके बच्चे धीरे धीरे खुद अपनी problems को solve करना सीख जायेंगे.

4. बच्चो को दूसरो की हेल्प करने के लिये कहे

जब आप अपने बच्चो की हर तरह से मदद करते हो तो आपके बच्चो में self confidence खूब आजाता है जिससे आपके बच्चो को दूसरो की help करने का मन करता है. अगर आपके बच्चे दूसरो की हेल्प नहीं करते है तो उन्हें कहे कि, अगर किसी को तुमारी जरुरत पड़े तो उसकी मदद करे. इससे होगा क्या कि, आपके बच्चो के नये नये दोस्त बनेंगे और आपका बच्चा अपने आपको full confident फील करेगा.

दोस्तों हमारा आर्टिकल पूरा हो चूका है, हमे उम्मीद है कि, आपको ये आर्टिकल बहुत पसंद आया होगा और इस आर्टिकल को पढने के बाद आप अपने में बहुत बदलाव करने के बारे में सोच रहे होंगे. हम बस आपको इतना कहना चाहते है कि, अपने बच्चो को खुद पर निर्भर होने दे तभी वो दुनिया से कुछ सीख पायेंगे.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *