एग्जाम टेंशन : कैसे दिलाये बच्चो को परीक्षा के तनाव से राहत

दोस्तों आज हम बच्चो के एग्जाम स्ट्रेस के बारे में बात करने जा रहे है. आज का आर्टिकल है कि, “बच्चो को exam stress से कैसे राहत दिलाये”. परीक्षा का डर अच्छो अच्छो का पसीना निकाल देता है तो फिर बच्चे किस खेत की मुली. चाहे कोई भी परीक्षा क्यों ना हो बच्चो में exam को लेकर दबाब बना रहता है. अगर काफी हद तक देखा जाये तो आप लोगो (parents) के बार बार दबाब देने के कारण ही बच्चो में ज्यादा तनाव पैदा होता है. हा हमे पता है कि, आप अपने बच्चो के पढाई के लिये बहुत serious है पर अगर आप इतनी छोटी उम्र में ही उन्हें दबाब या pressure दोगे तो बच्चे कैसे सीखेंगे.

एक अच्छे माता पिता होने के नाते आपको exam के time अपने बच्चो के संपर्क में आना चाहिये. ऐसे time पर उनकी देखभाल करे, सही खाना और अच्छी नींद दे और तनावपूर्ण परिस्थितियों से निपटने में उनकी हेल्प करे. Deal with children exam stress in hindi.

एग्जाम टेंशन कैसे दिलाये बच्चो को परीक्षा के तनाव से राहत

पहले बच्चो के तनाव के संकेत को देखे

अगर आप ये सोच कर चलोगे कि, आपका बच्चा पढाई के कारण ही बहुत तनाव या थकान फील कर रहा है तो आप अपने बच्चो को ढंग से हैंडल नहीं कर पाओगे. सबसे पहले आपको तनाव के संकेतो को समझना होगा कि, आपका बच्चा तनाव में क्यों है. निचे हमने कुछ संकेत बता रखे है.

1. तनाव या चिंता करना

अगर बच्चो को पढाई से फ्री छोड़ दिया जाये तो बच्चे अपने हिसाब से सब कुछ करते है. पर देखा जाये तो बच्चे बहुत छोटे होते है जिस वजह से उनमे समझ बहुत कम होती है. ऐसे में माँ बाप बच्चो को गाइड करते है. कई माँ बाप बच्चो को इतना सुनाते है कि, बच्चे इस तरह से टेंशन में चले जाते है कि, वो ढंग से पढ़ नहीं पाते.

2. नींद पूरी ना करना

माँ बाप का लगातार ये कहना कि, “पढो पढो……….ताकि पेपर अच्छा कर सको”. इसी चक्कर में बच्चे पढाई पर दिन रात एक कर देते है. ऐसे में बच्चे नींद कम ले पाते है जिस चक्कर में बच्चे अगले दिन अपने आपको ज्यादा थका हुआ महसूस करते है जिस वजह से बच्चो में तनाव और चिंता जल्दी पैदा होती है.  

3. ढंग से ना खाना

जब आप बच्चो को रात दिन पढो पढो कहोगे तो बच्चे ढंग से खाना कैसे खायेंगे……खाते वक्त भी बच्चे पढाई के बारे में सोचते रहते है जिस वजह से बच्चे ओर दिन के मुकाबले कम खाना खाते है………….. जिसका भुगतान उनको अगले दिन भुगतना (चिंता और थकान) होता है.

4. फ्यूचर के बारे में सोचना

बच्चे कभी भी future के बारे में नहीं सोचते है वो प्रेजेंट में ही जीना पसंद करते है. Future के बारे में माता पिता ही बच्चो को बताते है और ये भी कहते है कि, अच्छे marks नहीं आये तो future में तुम्हे कोई भी नहीं पूछेगा. माना कि, आप लोग अपने बच्चो के लिये बहुत serious है पर बच्चे तो बच्चे है……….. उनके साथ बच्चो की ही तरह treat करे ना की बड़ो की तरह.

Exam Tension को कैसे कम करे

चलो अब बात करते है कि, परीक्षा exam की चिंता को कैसे कम करे? निचे हमने कुछ तरीके बताये है जिनका पालन आपको करना चाहिये………..

1. पढने का Time Table बनाये

बच्चो को लगातार पढाना ये सही नहीं होगा इससे तो बच्चे ओर ज्यादा तनाव में चले जायेंगे. तो ऐसे में आपको अपने बच्चो का time table set करना होगा. उस time में आपको बच्चो के पढने से लेकर खेलने से लेकर और बीच बीच में break का time set करना होगा. तभी आपके बच्चे अच्छी तरह से और फ्री mind से पढ़ सकते है. इस बात का ध्यान रखे कि, जब बच्चे पढ़े तो आप भी बच्चो के साथ रहे ताकि अगर बच्चो को कुछ समझ ना आये तो आप उन्हें बता सके, ऐसे में बच्चे अच्छे से पढ़ते है. अगर आपके पास एक extra और शांत कमरा है तो अपने बच्चो को उस कमरे में पढाये ताकि आपके बच्चे आराम से पढ़ सके.

2. Regular अच्छा खाना खाये

जब आपके बच्चे fatty खाना या unhealthy food खाते है तो इसका negative effect पढता है जो आपके बच्चो की exam की प्रिपरेशन में बाधक डाल सकती है. तो इसलिये आपके बच्चो के लिये एक अच्छा खाना खाना बहुत जरुरी हो जाता है जिससे उनको positivity मिल सके और exam की तैयारी अच्छे से कर सके. जब तक आपके बच्चो के exam चल रहे है तब तक high fat और high sugar foods को अवॉयड करे ये सब stress को invite करते है बल्कि आपको फल, सब्जियां, साबुत अनाज, और मछली जैसे प्रोटीन को खाने में डालना चाहिये. इस बात का ध्यान रखे कि, बच्चो को एक खाना भर पेट ना खिलाये बल्कि अलग अलग तरह का खाना बच्चो को दे ताकि बच्चो को अलग लग protein मिल सके.

3. Stress को कम करने के लिये एक्सरसाइज करे

अगर आप और आपके बच्चे regular कुछ ना कुछ एक्सरसाइज करते है या आपके बच्चे खेलो में ज्यादा रहते है तो आपके बच्चो को stress छु भी नहीं सकती पर अगर आपके बच्चे पढाई के भोज में दबे रहे है और खेलते या एक्सरसाइज नहीं करते है तो आपके बच्चे ज्यादा stress और tension को face करते है. Research या doctors की माने तो एक्सरसाइज या खेलने से stress और tension level कम होता है. तो exam के दिनों में आप अपने बच्चो को आधा घंटा या 1 घंटा physical activity के लिये दे. इससे क्या होता कि, आपके बच्चो का मूड अच्छा होगा और वो खेलने या एक्सरसाइज करने के बाद बिलकुल फ्रेश होंगे जिससे पढाई में उनका मन लगेगा.

4. अच्छी नीद ले

बच्चो को time table से पढाना भी ठीक है फिर बच्चो को बीच बीच में physical activity करवाना भी ठीक है फिर बच्चो को अच्छा खाना देना भी ठीक है………………….पर क्या आपको लगता है कि, ये सब करने के बाद आपका बच्चा आपकी सोच पर खड़ा उतरेगा. नहीं बल्कि ये सब के साथ साथ बच्चो को अच्छी नींद भी बहुत जरुरी है. अच्छी नींद से दिमाग तेज होता है और ध्यान लगाने में मदद मिलती है. Paper के time देर रात तक पढना ये सही नहीं है ऐसा करने से बच्चो को अगले दिन सर दर्द या थकान से गुजरना पडता है जिसका असर बच्चो के exam पर पढता है. तो आपके लिये ये जरुरी है कि, बच्चो को exam के time 8 से 9 घंटे की नीद दे.

तो दोस्तों आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमे comment करके बताये और अगर आपके मन में कोई सवाल है तो हमसे पूछे हम आपको जवाब देंगे. दोस्तों हमारे साथ बने रहने के लिये thanks.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here