एक्सरसाइज टिप्स छोटे बच्चो को Exercise कैसे कराये

एक्सरसाइज टिप्स : छोटे बच्चो को Exercise कैसे कराये

नमश्कार दोस्तों, आज का आर्टिकल है कि, “छोटे बच्चो को एक्सरसाइज कैसे करवाये”. बहुत सारे माँ बाप की ये सोच होती है कि, अभी हमारे बच्चे बहुत छोटे है अभी से उन्हें एक्सरसाइज की क्या जरुरत? अगर आपकी भी ऐसी ही सोच है तो आपके बच्चो का health future खतरे में है. जैसा की आपको पता है कि, आजकल की generation के बच्चे खेल कूद में कम और मोबाइल, लैपटॉप में ज्यादा लगे होते है ऐसे में उनकी physical activity ना के बराबर होती है जिस वजह से बच्चे बीमारियों की चपेट में आजाते है.

अगर आप एक अच्छे माता पिता बनना चाहते है तो आपको बच्चो को एक्सरसाइज करवाना चाहिये. Exercise करने से आपके बच्चे की heart अच्छा रहता है, पुरे शरीर को power मिलती है और आपके बच्चे का दिमाग तेज होता है. अगर आप अपने बच्चो को starting से ही एक्सरसाइज की आदत डालोगे तो ये आदत उनकी लम्बे समय तक रहेगी……….. जिसकी वजह से आपके बच्चो को future में हेल्थ से related बहुत से benefits मिलेंगे जिसके बारे में आपको अंदाजा भी नहीं है.

इस बात का ध्यान रखे कि, 1 साल से कम बच्चो को एक्सरसाइज ना करवाये. ये भी ध्यान रखे कि, हर उम्र के बच्चो के लिये अलग अलग एक्सरसाइज होती है.

एक्सरसाइज टिप्स छोटे बच्चो को Exercise कैसे कराये

शिशु के लिये एक्सरसाइज

हमने आपको ऊपर भी बताया है कि, जब आपका शिशु 1 साल से ऊपर हो तभी उनको एक्सरसाइज करवाये. निचे हमने कुछ हल्के फुल्के exercise बताये है जो आप अपने बच्चो को करवा सकती है.

1. Massage दे

मालिश massage भी एक्सरसाइज में ही आजाती है. मालिश में बच्चो की full तेल से शरीर की मालिश करी जाती है जिससे बच्चो के मासपेशीय और हड्डिया बनने में मदद मिलती है. Doctors की माने तो मालिश करने से बच्चो का heart अच्छा रहता है, blood सर्कुलेशन proper चलता है, बच्चो में चिडचिडापन कम होती है. शिशु की आखो की रौशनी तेज होती है etc etc. आप अपने बच्चे की मालिश पैदा होने के 2 महीने के बाद से ही कर सकते हो. अगर आपको पता नहीं है कि, शिशु की मालिश कैसे करी जाती है तो आप हमारे blog पर, “शिशु या बच्चे कि मालिश कैसे करे” वाला आर्टिकल पढ़ सकते हो.

2. खुद से कोशिश करे

हर Doctors का यही कहना होता है कि, सभी महिलाओ को कम से कम 6 week रुकना चाहिये अगर आप baby को एक्सरसाइज करवाना चाहती है तो. खुद से कोशिश करने के लिये आप baby से बात करके हाथ पाव हिला कर एक्सरसाइज करवा सकती है. अगर आपका बच्चा गानों का शोकीन है तो भी आप गाना सुनवा कर exercise करवा सकती है. इस बात का ध्यान रखे कि, बच्चो का हाथ पाव ज्यादा ना हिलाए ऐसे में baby को खिचाव या दर्द हो सकता है.

3. Exercise Class Join करे

अगर आप अकेले में bore फील करती है या आपको लगता है कि, आप अपने baby की अच्छे से एक्सरसाइज नहीं कर पा रही है तो ऐसे में आप एक्सरसाइज class join कर सकती है. आप अपने area में कोई community centers देख सकती है जहा पर माँ और बच्चे के लिये एक्सरसाइज class हो.

बच्चो के लिये एक्सरसाइज

ऊपर हमने शिशु के लिये एक्सरसाइज बताये the पर यहाँ पर हम बच्चो के लिये एक्सरसाइज बतायेंगे. निचे हमने कुछ यूनिक एक्सरसाइज बताये है जो बच्चो की हेल्थ और growth के लिये बहुत अच्छे है.

1. स्ट्रेचिंग करवाये

Stretching एक ऐसी एक्सरसाइज है जिसे बच्चे आसानी से कर लेते है. बच्चो का शरीर बहुत लचीला होता है ऐसे में बच्चे easily से ये exercise कर लेते है. इस exercise को exiting और मजेदार बनाने के लिये आप अपने बच्चो को बता सकते है कि, stretching करने से बच्चो की हाइट बढती है, मासपेशीय बनते है, हड्डिया strong बनते है etc etc.

2. योग करवाये

जितना बड़ो के लिये योगा फायदेमंद है उतना ही बच्चो के लिये भी है. आपको ये पता होना चाहिये कि, बच्चो के लिये योगा अलग होते है आप बच्चो को हर योगा नहीं करवा सकते. जाने बच्चो के लिये योग :- प्रणाम आसन, हस्तोत्तानासन, हस्तपादासन, अश्व संचालनासन, दंडासन, अष्टांग नमस्कार, भुजंगासन, पर्वतासन, ताड़ासन, धनुरासन, वृक्षासन, मर्जरी आसन,वज्रासन, वीरभद्रासन, शिशुआसन.

अब जानते है योगा करवाने के फायदे :- योगा करवाने से बच्चो की हाइट बढती है, दिमाग शांत रहता है, किसी भी काम में फोकस बना रहता है, heart से related बीमारियों से दूर रखता है, शरीर लचीला बनाता है, पेट से related बीमारियों को दूर करता है, active रखता है, बच्चे डिप्रेशन फ्री रहते है, बच्चो में positivity आती है.

3. खेल कूद में रुची दिलाये

आजकल के बच्चे खेल कूद में कम और लैपटॉप या मोबाइल में ज्यादा लगे होते है. ये हाल एक का नहीं बल्कि सभी बच्चो का है. ऐसे में आपको अपने बच्चो को खेल कूद में रुची दिलवाना चाहिये. सुबह आप जल्दी उठे और अपने बच्चो को भी उठाये और अपने बच्चो के साथ जॉगिंग, रनिंग या stretching करे. अपने बच्चो को स्कूल में games लेने के लिये कहे या sports में participate करवाये. शाम को आप अपने बच्चो को ग्राउंड में औरों बच्चो के साथ खेलने के लिये प्रेरित करे. अगर आप फ्री है तो आप अपने बच्चे के साथ खेले.

तो दोस्तों आपको ये आर्टिकल कैसे लगा, हमे comment करके बताये. अगर आपके मन में सवाल है तो हमसे पूछे हम जवाब जरुर देंगे. दोस्तों हमारे साथ बने रहे next आर्टिकल के लिये.

loading...

About the Author: Neha Sharma

Hi, friends मेरा नाम नेहा शर्मा है और में professional blogger हु. इस blog को बनाने का मेरा main मकसद ये है कि, मैं महिलाओ और लडकियों कि problem को solve कर सकु.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *