परवरिश बच्चो का झूट कैसे पकडे (100% तरीके)

परवरिश : बच्चो का झूट कैसे पकडे (100% तरीके)

दोस्तों आज हम झूट के बारे में बात करने वाले है आज का आर्टिकल है कि, “बच्चो का झूट कैसे पकडे”. बच्चो से माता पिता जितना प्यार करते है उतना ही माता पिता के लिये ये मुस्किल हो जाता है कि, उनका बच्चा जो बात उनसे कह रहा है वो सही है की गलत. अक्सर माता पिता बच्चो से इतना प्यार कर बैठते है कि, उनकी हर बात उन्हें सही लगती है ऐसे में कई बच्चे अपने माता पिता का फयदा उठाने लग जाते है और झूट बोलते रहते है. इस तरह की छोटी मोटी झूटे बाद में बड़ी झूटो में बदल जाती है. तब जाकर माता पिता को लगता है कि, उनका बच्चा बिगड़ गया है.

तो अगर आप इस तरह का कुछ भी नहीं चाहते है तो आपको अपने बच्चो का झूट पकड़ना सीखना होगा. अभी से सिखाई हुयी अच्छी आदते आपके बच्चो को बाद में फायदा दे सकती है. तो दोस्तों ज्यादा जानकारी के लिये ये आर्टिकल पढ़े.

परवरिश बच्चो का झूट कैसे पकडे (100% तरीके)

Signs Your Child Is Lying In Hindi

बच्चे झूट क्यों बोलते है

आपको अपने बच्चो के झूट को पकड़ने से पहले ये जानने की कोशिश करनी चाहिये कि, बच्चे झूट क्यों बोलते है? या आपका बच्चा झूट बोलना कैसे सीखा है? निचे कुछ points पर बात करी गयी है आप इन्हें पढ़े और जाने.

1. आदत

हमने आपको ऊपर भी बताया था कि, बच्चो के ज्यादा प्यार के चक्कर में कई माता पिता अपने बच्चो के छोटे मोटे झूट को पकड़ नहीं पाते है या उनको अपने बच्चो की सभी बाते सही लगती है. जिससे होता क्या है कि, आपके बच्चो के ज्यादा झूट बोलने से उसको झूट बोलने की आदत लग जाती है और ये आदत धीरे धीरे बड़ी आदत बन जाती है. तो हम इसको एक solid reason मान सकते है.

2. डर की वजह से

कई माता पिता का अपने बच्चो के ऊपर इतना खौफ रहता है कि, बच्चे अपने माता पिता को देखते ही कच्छे में पिसाब कर बैठते है तो ऐसे में आप ही बताये कि, ऐसी हालत में बच्चे डर के मारे बचने के लिये झूट नहीं बोलेंगे तो क्या बोलेंगे.

3. संगती

आपने अपने बुजुर्गो या सीनियरो से ये तो सुना होगा कि, जैसी सांगत वैसी रंगत. आप चाहे अपने बच्चो को जितना मर्जी अच्छा ज्ञान दो पर अगर आपके बच्चो के मित्र या दोस्त अच्छे नहीं होंगे तो आपका बच्चा आपके ज्ञानो की परवा नहीं मारेगा. एक research से ये पता लगा है कि, माता पिता का ज्ञान बच्चो पर कम और दोस्तों का ज्ञान या संगती बच्चो पर ज्यादा पढ़ती है. तो ऐसे में अगर आपके बच्चो के दोस्तों बहुत ज्यादा झूट बोलते है तो नार्मल सी बात है कि, आपके बच्चे भी आपसे झूट बोलना शुरू कर देंगे और आपको पता भी नहीं चलेगा.

4. घर का माहोल की वजह से

अक्सर हमे लगता है कि, बच्चे हमारी बात क्या समझेंगे या अगर हम झूट भी बोल रहे है तो बच्चो को क्या पता लगेगा. पर हम ये बात भूल जाते है कि, बच्चे अपने growing period में होते है, ऐसे में वो चीजों को जल्दी सीखते है. बच्चो को अंदाजा लग जाता है कि, आप झूट बोल रहे है कि नहीं. ऐसे में अगर आपके घर में सभी ज्यादा झूट बोलते है तो नार्मल सी बात है कि, आपका बच्चा आप लोगो से झूट बोलना सीख ही जायेगा. एक कहावत है कि, बच्चे बाहर के मुकाबले घर से ज्यादा सीखते है.

झूट को कैसे पकडे

तो दोस्तों अब बात करते है कि, बच्चो के झूट को जल्दी कैसे पकडे? निचे हमने कुछ जरुरी tips बता रखे है इन्हें पढ़े और आजमाये. हमे दावे के साथ कह सकते ही कि, आपको ये तरीके बहुत काम आयेंगे.

1. Body Language से

रिसर्च ये साबित कर चूका है कि, इंसान बोलने की प्रक्रिया में अपने शरीर के अंगो से भी जाहिर करता है. तो अगर इंसान झूट बोल रहा है तो उसकी बॉडी लैंग्वेज अलग होती और अगर इंसान सही बोल रहा है तो उनकी बॉडी लैंग्वेज अलग. तो ऐसे में आपको परीस्तिथी के हिसाब से बॉडी लैंग्वेज का ज्ञान होना चाहिये. देखिये जब इंसान सच बोल रहा होता है तो उनकी बॉडी स्थिर रहती है उसकी नजर आपर होती है. पर अगर इंसान झूट बोल रहा होता है तो उनकी नजर इधर उधर और उसकी body टेढ़ी मेढ़ी होती है. तो अब आपको समझ आगया होगा कि, आप body language से अपने बच्चो का झूट कैसे पकड़ सकते हो.

2. आखो से

जब कोई झूट बोलता है तो वो सामने वाले से अच्छे से नजर नही मिला पाता है मतलब आखो में आखे देखकर नजर नहीं मिला पाता है. ऐसे में वो अपने नजरो को निचे रखता है या बोलते वक्त इधर उधर देखता है.

3. सवाल करे

झूट को पकड़ने का सबसे अच्छा तरीका ये है कि, आप हमेशा अपने बच्चो से सवाल पूछे. इससे होगा क्या कि, बच्चे एक ही वक्त पर हर बार झूट बोलने में उलझ जायेंगे. ऐसे में उनका झूट पकड़ा जायेगा और आपका काम भी आसान हो जायेगा.

4. बोलने का अंदाज

कई बच्चे इतने शातिर होते है कि, उनके बोलने के तरीके में इतनी सफाई होती है कि, आप उनके झूट को पकड़ ही नहीं सकते. पर अगर आप बोलने की स्पीड और सास की रफ़्तार पर गौर करे तो आपको झूट बोलने वक्त इन दोनों में बढ़ोतरी नजर आएगी. ऐसे में आप झूट को पकड़ सकते हो.

तो दोस्तों हमने इस आर्टिकल को बड़े खूबसूरती से खत्म किया है पर अगर आपको लगता है कि, इस आर्टिकल में कुछ कमी है तो आप हमे comment के through बता सकते है. दोस्तों हमारे साथ बने रहने के लिये thanks.

loading...

About the Author: Neha Sharma

Hi, friends मेरा नाम नेहा शर्मा है और में professional blogger हु. इस blog को बनाने का मेरा main मकसद ये है कि, मैं महिलाओ और लडकियों कि problem को solve कर सकु.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *